Business

श्रीलंका ने सभी विदेशी लोन को किया डिफॉल्ट, 51 अरब डॉलर के कर्ज में सबसे बड़ा हिस्सेदार चीन

Sri Lanka- India TV Paisa
Photo:FILE

Sri Lanka

भारत के पड़ौसी देश श्रीलंका को लेकर जिस बात का डर था, वो आज हो गया। श्रीलंका ने अपने सभी बाहरी कर्ज से डिफॉल्ट करने की घोषणा कर दी है। इसका मतलब है कि श्रीलंका ने आधिकारिक रूप से कर्ज देने से हाथ खड़े कर दिए हैं। बता दें कि श्रीलंका पर 51 अरब डॉलर का भारी भरकम कर्ज है। जिसमें करीब 36 फीसदी की हिस्सेदारी चीन की है। 

संकट से जूझ रहे श्रीलंका ने मंगलवार को घोषणा की कि वह 51 अरब डॉलर के विदेशी कर्ज में चूक करेगा। बता दें कि श्रीलंका ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से राहत पैकेज की मांग की है। श्रीलंका के वित्त मंत्रालय ने कहा कि कर्ज देने वाली विदेशी सरकारों सहित लेनदार मंगलवार दोपहर से किसी भी ब्याज भुगतान को भुनाने या श्रीलंकाई रुपये में भुगतान का विकल्प चुनने के लिए स्वतंत्र थे।

खाद्य उत्पादों, गैस, तेल एवं अन्य जरूरी चीजों की किल्लत और भारी बिजली कटौती से जूझ रहे श्रीलंका में इस समय लोग सड़क पर उतरकर विरोध जता रहे हैं। मुखर जन-विरोध की वजह से श्रीलंका सरकार के सभी मंत्रियों को पद छोड़ना पड़ा है और तमाम सांसदों ने भी राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे का साथ छोड़ दिया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, श्रीलंका में विदेशों से कच्चे तेल की आपूर्ति एक अप्रैल से शुरू होनी थी लेकिन हालात की गंभीरता को देखते हुए मार्च के आखिरी हफ्ते में ही तेल की खेप पहुंचने लगी थी। भारत से तेल की अगली खेप अगले हफ्ते पहुंचने की उम्मीद है।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Privatization of BPCL stopped, govt will start new process | बीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया

क्यों रुका विनिवेश सरकारी सूत्रों के अनुसार, “हम एकल बोली […]

क्या आर्थिक मंदी की ओर बढ़ रही दुनिया? अर्थव्यवस्था की चाल बताने वाले ये पांच इंडिकेटर्स कर रहे इशारा Is the world heading towards economic recession These five indicators are pointing the economy

Photo:INDIA TV Economic Slowdown Economic Slowdown: क्या एक बार फिर […]

open ppf account in name of child and get rs 32 lakh after 15 year | 12वीं पास होने के बाद बच्चे को मिलेंगे 32 लाख रुपए, ऐसे उठाएं इस योजना फायदा

हर महीने जमा करवाने होंगे इतने पैसे पब्लिक प्रोविडेंट फंड […]

Privatization of BPCL stopped, govt will start new process | बीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया

क्यों रुका विनिवेश सरकारी सूत्रों के अनुसार, “हम एकल बोली […]