Business

Bank of Baroda, MCLR increased, loans will be expensive from tomorrow | बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहकों को झटका, MCLR बढ़ाया, कल से महंगे होंगे लोन

बैंक ऑफ बड़ौदा ने MCLR (मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ट लेंडिंग रेट्स) के रेट में बढ़ोतरी की है। बैंकिग सिस्टम में 1 अप्रैल 2016 से MCLR लागू किया गया था। MCLR लोन के मिनिमम ब्याज दर को निर्धारित करता है। इस बढ़ोतरी के बाद MCLR 7.35% हो जाएगी।

बैंक ऑफ बड़ौदा ने लोन लेने वाले ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। बैंक 12 अप्रैल 2022 से MCLR (मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ट लेंडिंग रेट्स) में 0.05% की बढ़ोतरी कर रहा है। इसके बाद अब MCLR 7.35% हो जाएगी। गौरतलब है कि अधिकांश कंज्यूमर लोन पर ब्याज दर MCLR के द्वारा ही तय होती है। बैंक ऑफ बड़ौदा ने सेवी को बताया कि उसने MCLR बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है जो 12 अप्रैल से लागू होगा।

MCLR बढ़ोतरी का असर अधिकांश कंज्यूमर लोन जैसे होम, पर्सनल, ऑटो में पड़ेगा। अब एक महीने के लिए MCLR 6.50%, 3 महीने के लिए MCLR 6.50% , 6 महीने के लिए 7.20% और 1 साल के लिए 7.35% कर दिया गया है।

 


RBI ने रेपो रेट में नहीं किया कोई बदलाव

8 अप्रैल को RBI ने मौद्रिक नीति समीक्षा के नतीजे जारी किए जिसमें उसने रेपो रेट में किसी तरह के बदलाव नहीं किए है। RBI ने आखिरी बार 22 मई 2020 में रेपो रेट में बदलाव किया था। रेपो रेट बैकों को मिलने वाले कर्ज के ब्याज दर को निर्धारित करता है।

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Wheat Export Ban: गेहूं निर्यात पर बैन से दुनिया में गहराया संकट, 60% बढ़े दाम, जानिए कितने देशों का पेट भरता है भारत

Wheat Production  Highlights भारत सरकार के एक्सपोर्ट बैन के बाद […]

open ppf account in name of child and get rs 32 lakh after 15 year | 12वीं पास होने के बाद बच्चे को मिलेंगे 32 लाख रुपए, ऐसे उठाएं इस योजना फायदा

हर महीने जमा करवाने होंगे इतने पैसे पब्लिक प्रोविडेंट फंड […]

Petrol in India costlier than US, China, Pakistan | भारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगा

क्या है रिपोर्ट में?बैंक ऑफ बड़ौदा इकोनॉमिक रिसर्च की रिपोर्ट […]

All Time Low: आने वाली है महंगाई की सुनामी, रुपया 77.60 प्रति डॉलर के अब तक के सबसे निचले स्तर पर

Photo:FILE Dollar  अगर अभी महंगाई आपकी कमर तोड़ रही है […]